Image

आइये एक बार फिर से चलते है आईपीएल के उस रोमांच पर सिर्फ YUVA VISTA पर

मुकाबला कांटे का है और मैच अपने आखिरी ओवर में पहुंच चुका है. अब जीत-हार का फैसला करेंगी बाकी बचे 6 गेंद और हैदराबाद का राजीव गांधी स्टेडियम लबालब भरे क्रिकेट प्रेमियों की बेतहाशा भीड़ से खचाखच भरा हुआ है और दर्शक दिल थाम कर बैठे है. अपनी-अपनी टीम की जीत की आस लगाए फैंस के चेहरे पर टेंशन साफ देखा जा सकता है, कुछ आंखे बंद है दुवाओ के लिए तो कुछ हाथे खड़ी है जोश बढाने के लिए.

अंपायर के सिग्नल के बाद 20वें ओवर की शुरुआत होती है. चेन्नई सुपर किंग्स को मुंबई इंडियंस पर जीत के लिए 6 गेंदों में 9 रनों की जरूरत होती है. क्रीज पर वाट्सन और जडेजा पूरे मूड मे है.मुंबई इंडियंस फील्डिंग पिच पर है रोहित शर्मा ने अपनी अनुभवी कप्तानी का फायदा उठाया और आखिरी ओवर के लिए लसिथ मलिगां के हाथों में गेंद पकड़ा दी.

और इसी बीच पहली गेंद

पहली गेंद फेंकी गई, मलिंगा की यॉर्कर गेंद वाट्सन के बल्ले से टकराई, लेग स्टंप से निकली. और किसी तरह वो अपनी टीम के स्कोर में महज़ एक रन जोड़ पाए. मुंबई इंडियंस के फैंस खुसी से झूम उठे जबकि चेन्नई की टीम एक बार मायूस दिखी.

अब आई दूसरी गेंद

अब दूसरी गेंद जडेजा को लॉ फुल टॉस दी गई. जडेजा ने गेंद को मलिंगा के पास लौटाया और एक रन मिले. इस तरह दो गेंद में सिर्फ दो रन बने. अब जीत के लिए 4 गेंद में 7 रन की जरूरत है.

इस बीच तीसरी गेंद

मलिंगा ने एक बार फिर यॉर्कर फेंकी. लेकिन इस गेंद पर वाट्सन दो रन लेने में कामयब हो गए. इस तरह तीन गेंद में 4 रन बन चुके है. यानि जीत के लिए अगली 3 गेंद में 5 रनों की जरूरत है.

चौथी गेंद

चौथी गेंद भी यॉर्कर है. आउट साइड ऑफ में उछलती गेंद को वाट्सन ने डीप प्लाइंट में भगा दिया. एक रन तो बड़ी आसानी से ले ली, लेकिन वाट्सन स्ट्राइक अपने पास रखना चाहते है और दूसरे रन के चक्कर में आउट हो गए. अब दो गेंद में 4 रन की जरूरत है जीत मुश्किल की ओर बढ़ रही है, लेकिन नामुमकिन नहीं है. फैंस की धड़कनें तेज है और स्टेडियम में खामोशी…

पांचवीं गेंद

वाट्सन के आउट होने के बाद शरदुल ठाकुर बल्लेबाज़ी को आए. मलिंगा ने अपनी पांचवीं गेंद फुल टॉस डाला, जिसपर ठाकुर ने दो रन बनाकर जीत की ओर अपनी टीम के कदम बढ़ा दिए. और इस 2 रन के साथ मैच अपने रोमांच के चरम पर पहुंच गया. अब आखिरी गेंद पर जीत-हार की उम्मीदें टिकी है. चेन्नई को जीत के लिए 2 रन की जरूरत है. मामला चेन्नई के पक्ष मे रहता यदि सामने फीनिसर धोनी रहता.

अब आते है आखिरी गेंद पर

अब आखिरी पर गेंद पर चेन्नई को जीत के लिए 2 रन की दरकार है अगर एक रन भी मिलते तो मैच टाई होता.. मलिंगा ने अपनी अनुभवी गेंदबाज़ी का हुनर दिखाया. अब तक तेज गेंद डाल रहे मलिंगा ने आखिरी गेंद स्लो डाला… बल्लेबाज़ शरदुल ठाकुर ने बल्ला उठाया , लेकिन हवा में… मलिंगा ने एलबीड्ब्लूय की अपील की… और अपंयार मेनन ने अपनी उंगली उठा दी.

और इस तरह चेन्नई सुपर किंग से मुंबई इंडियन ने जीत छीन ली. मलिंगा का कमाल था कि आखिरी 6 गेंदों में दो विकेट लिए और सिर्फ सात रन दिए… और सबसे बड़ी बात अपनी टीम को जीत दिला दी. इस सबके बीच एक आदमी बहुत उदास था………महेंद्र सिंह धोनी.