Image

जीत-हार जिसकी भी हो मर्यादा हार रही है, बंगाल मे हुए हिंसा पर कुमार विश्वास

कोलकाता मे मंगलवार को हुई रैली के दौरान हिंसा के बाद पश्चिम बंगाल की राजनीति में उबाल आ गया है. दिल्ली से लेकर बंगाल तक हर ओर राजनीतिक माहौल गरम है. भड़की हिंसा के बाद चुनाव आयोग द्वारा पश्चिम बंगाल में 16 मई की रात को ही चुनाव प्रचार रोकने के फैसले पर सवाल खड़ा किया जा रहा है. इस पर विख्यात कवि और बागी आप नेता कुमार विश्वास ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर इस घटना को दुखद बतलाया और कहा, भाषा-संस्कृति व विरासत की पुण्यभूमि जल रही है.

कुमार विश्वास का ट्वीट

”वीभत्स हो रही है बंगाल की जंग ! लोकतंत्र के हर मानक संस्थान की धज्जियाँ उड़ रही हैं ! जीत-हार जिसकी भी हो,मर्यादा हार रही है,भारतीय चुनावों की लोकतांत्रिक परम्परा हार रही है,नेताओं की विश्वसनीयता हार रही है ! दुखद है कि भाषा-संस्कृति व विरासत की पुण्यभूमि जल रही है” उन्होंने इस ट्वीट के साथ एक हैशटैग का भी यूज किया. जिसमें उन्होंने  #BengalBurning लिखा.

एक और ट्वीट में कुमार विश्वास ने लिखा

”जो कुछ बंगाल में हो रहा है वो बंगाल की महान और गौरवशाली परम्परा के सर्वथा विपरीत है! आशा है बंगाल का भद्रलोक मतदान की ताक़त से ऐसे दादाओं-दीदीयों को सबक़ सिखाएगा! मासूम जनभावनाओं के शोषण से अचानक सत्ता पाए ऐसे अराजक, कितने खतरनाक होते हैं, जानता हूं”.

मालूम हो कि भारत के चुनावी इतिहास में इस तरह की पहली कार्रवाई में चुनाव आयोग ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के नौ लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार बृहस्पतिवार को रात 10 बजे समाप्त करने का आदेश दिया है.