Image

ड्राइविंग लाइसेंस जुडे नियम बदले गए

मोदी सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े एक नियम मे बड़ा बदलाओ किया है, सरकार की ओर से इसे एक बाड़ क्रांतिकारी बदलाओ कहा गया है. इस बदलाओ का सबसे जादा फायदा मिलेगा जो पढे-लिखे नही है.

क्या है बदलाओ

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालाये ने रोजगार के अवसरो को बढ़ाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस के लिएमिनिमम एजुकेशनल क्वालिफ़िकेशान की बाध्यता को खत्म कर दिया है.

मंत्रालाये के नोटिफ़िकेशन के आधार पर अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने या रिन्यू करवाने के लिए 8वी पास होना अनिवर्य नही होगी।

बता दे की अभी तक ड्राइविंग लाइसेंस के लिए 8वी पास होना अनिवर्य रहा है.

इस बदलाओ के संबंद मे जानकारी देते हुए केबिनेट मंत्री नितिन’ गडकरी ने ओफिशियल टूवीटर पर लिखा- समाज के कम पढे-लिखे ओर गरिब लोगो ड्राइविंग से रोजगार की संभावना तलाशते है. सरकार ने 8वी तक की पढ़ाई की अनिवार्यात हटा दी है, जिससे उनकी पढ़ाई के कारण रोजगार न रुके. ट्रांसपोत सैक्टर मे भी 22 लाख से अधिक ड्राइवरो की कमी है, इसे लाखो जिंदगीया बेहतर हो सकती है.

किसे मिलेगा लाइसेंस

अब ड्राइविंग लाइसेंस उनही लोगो को मिलेगा जो ड्राइविंग टेस्ट पास करेगे, ड्राइविंग की ट्रानिंग के लिए देश मे 2 लाख स्किल सेंटर भी खोले जाएगे. यहा लोगो को ट्रानिंग के जरये ट्राफिक सुरक्षा नियमो के बारे बतया जाएग.