Image

तीन तलाक बिल पर सरकार का समर्थन नहीं करेगी जदयू

लगता है बीजेपी और इसकी सबसे पुरानी साथी जेडीयू के बीच सब कुछ ठीक नही चल रहा है. केंद्रीय मंत्रिमंडल बँटवारे से शुरू हुई ये नाराजगी अब तीन तलाक बिल पर आकार रुक गई है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (युनाइटेड) ने गुरुवार को यहां कहा कि वह तीन तलाक के मुद्दे पर राज्यसभा में भाजपा नेतृत्व वाली राजग सरकार का समर्थन नहीं करेगी. जद (यू) के वरिष्ठ नेता और बिहार के मंत्री श्याम रजक ने कहा, “जद (यू) इसके खिलाफ है और हम इसके खिलाफ लगातार खड़े रहेंगे”. जद (यू) नेता ने कहा कि तीन तलाक एक सामाजिक मुद्दा है और इसे सामाजिक स्तर पर समाज के द्वारा सुलझाया जाना चाहिए. रजक ने कहा कि जद (यू) ने राज्यसभा में तीन तलाक विधेयक के खिलाफ वोट दिया था. इसके पहले नीतीश कुमार ने सार्वजनिक तौर पर तीन तलाक विधेयक का विरोध किया था.

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही सरकार ने तीन तलाक बिल को मंजूरी दे दी है और इसी सत्र में इसे संसद में पेश किया जा सकता है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने जानकारी देते हुए कहा कि देश आगे बढ़ रहा है और यह बिल इसका महत्वपूर्ण आयाम है. उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि इस बार राज्यसभा भी इस बिल का समर्थन करेगी और वहां भी बिल पास होगा. दरअसल, पिछले महीने 16वीं लोकसभा के भंग होने के साथ ही फौरी तीन तलाक पर पाबंदी लगाने वाले विधेयक की मियाद समाप्त हो गई थी, क्योंकि यह संसद में पारित नहीं हुआ और राज्यसभा में लंबित रह गया.